Monday, September 21, 2020
Home Asli Story सबसे कीमती चीज !

सबसे कीमती चीज !

इस दुनिया मे सबसे कीमती चीज क्या है ? कुछ लोगो के अनुसार धन सबसे कीमती है तो कुछ लोगो के लिए नौकरी कीमती है ,कुछ लोगो के लिये जवाहरात कीमती है , तो कुछ लोगो के लिए गाड़ियां कीमती है । लोगो का बस चले तो वो धन के लिए अपने जीवन को भी दांव पर लगा दे । आइए पहले आपको एक छोटा सा किस्सा सुनाता हूं फिर इसको समझते है ।

एक बार एक सेमिनार चल रही थी । बहोत भीड़ थी । स्पीकर ने अपने जेब से 2000 का नोट निकाला , और सबसे पूछा ये किसको चाहिये ? दो हजार का नोट किसको प्यारा नही होता ? सभी ने हाथ उठा दिया ।

स्पीकर ने बोला मैं किसी एक को ही दूंगा ये नोट पर थोड़ा प्रतीक्षा कीजिये । अब स्पीकर ने उस नोट को हाथ से बुरी तरह मरोर दिया और एक बार फिर लोगो से पूछा अब ये किसको चाहिए ? एक बार फिर लोगो ने हाथ उठाना शुरू कर दिया ।

उसने कहा ठीक है । अब स्पीकर ने उस नोट को जमीन पर गिरा दिया , और फिर पैर से कुचलने लगा , लोग यह देखकर हैरान होने लगे । कुछ देर बाद गंदे नोट को उठाकर एक फिर उसने लोगो से पूछा क्या अब भी ये आपको चाहिए ? एक बार फिर लोगो ने हाथ उठा दिए ।

यह छोटी सी घटना हमे बहुत बड़ी बातें सिखाती है ।नोट को मरोड़ने या कुचलने से उसका कीमत कम नही हुआ, लोग अब भी उसको पहले के तरह ही लेना चाहते थे ।

ठीक इसी तरह जिंदगी में हम कई बार गिरते है , कई बार हारते है । और हम सोचने लगते है , हमारा कोई कीमत नही है । लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही है । परिस्थितिया अलग अलग हो सकती है पर हमारे मूल्य , हमारी कीमत कभी कम नही होती ।

हमे कभी भी बीते हुए कल की निराशा से आने वाले कल के सपने को बर्बाद नही करना चाहिए । हारते हुए , गिरते हुए ही हम जीवन मे आगे बढ़ते है । यही तो हमे जीवन की सच्चाई से रूबरू करवाता है , तथा जीत के महत्व को भी समझता है ।

सबसे ज्यादा कीमती चीज है खुद हमारा जीवन । हम किन मूल्यों पर जीवन जीते है यह हमपर ही निर्भर करता है । सफलता के राह में ठोकरे तो मिलती ही रहेंगी , हमे उस ठोकर के बाद फिर उठ खड़ा होना होता है । अगर हम ऐसा करेंगे तो निश्चित ही अपने मंजिल तक देर सवेर पहुंच ही जायेंगे ।

जब भी हम चारो तरफ से घिरे होते है तो दो ही चीजे हो सकती है । पहला हम चुपचाप बैठ जाये और दुनिया को कोसना शुरू कर दे या खुद को कमजोर समझना शुरू कर दे । दूसरा इन सब से हौसला लेते हुए कुछ बातों को अनसुना करते हुए आगे बढ़े । हाँ दूसरा वाला रास्ता थोड़ा कठिन जरूर है । पर बिना कठिनाई के सफलता का आनंद ही कहाँ है !

उम्मीद है ये पोस्ट आपके जिंदगी में ब्रह्मास्त्र साबित होगी । ऐसे ही पोस्ट के लिए ब्रह्मास्त्र से जुड़े ओर औरो को भी जोड़े । क्योंकि बदलाव की शूरुआत हमसे और आपसे ही होती है ।

आपका दिन शुभ हो !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

समस्याएं – सौ ऊंटो की कहानी

जीवन में कभी कभी हम चारो ओर से समस्याओं से घिर जाते हैं और फिर सोचते है ये हमारे साथ ऐसा क्यों...

सबसे कीमती चीज !

इस दुनिया मे सबसे कीमती चीज क्या है ? कुछ लोगो के अनुसार धन सबसे कीमती है तो कुछ लोगो के लिए...

हनुमान जी का जन्म और नामाकरण

'हनुमान' यह शब्द हिन्दू धर्म मे एक अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान रखता है । इन्हें हिन्दू धर्म मे संकटमोचन के उपाधि से नवाजा...

शिष्टाचार – स्वामी विवेकानंद का प्रसंग

जब भी भारत के पवित्रता तथा अथाह ज्ञान से भरे इतिहास की बात की बात होती है तो विवेकानंद जी का नाम...

Recent Comments